अनुलोम विलोम के 10 फायदें और नुकसान ? anulom vilom benefits

अनुलोम विलोम के फायदें और उनके नुकसान anulom vilom benefits and side effects

अनुलोम विलोम के फायदें और उनके नुकसान | anulom vilom benefits and side effects
अनुलोम विलोम के फायदें anulom vilom benefits and side effects



अनुलोम विलोम प्राणायम (Anulom Vilom Pranayama):-

में हम दाहिने नाक के छिद्र से साँस अन्दर लेते है और बाएं वाले छिद्र से साँस को बाहर छोड़ते हैं.

अगर बाएं नाक के छिद्र से साँस भरते हैं तो दाहिने नाक के छिद्र से छोड़ते हैं. इसको प्रतिदिन करने से शरीर रोगमुक्त रहता हैं और जैसे, जोड़ों का दर्द, गठिया, या सुजन की शिकायत नहीं रहती हैं.

 

यह एक बहुत ही प्रसिद्ध योग आप इसके बारें में जानते ही होंगें लेकिन आज हम विशेताओं के बारे में जानने गें.

अनुलोम विलोम कई रोगों से लड़ने में कारगर माना जाता हैं. तो आइये जानते हैं इसके फायदें क्या- क्या हैं (Anulom Vilom Benefits).


अनुलोम विलोम करने के विधि या तरीका

·        सर्वप्रथम आप दोनों पैरों को मोड़ कर या पद्मासन, सुखासन की अवस्था में बैठ जाएँ. फिर अपने दाहिने अंगूठे से नाक के दाएं छिद्र को बंद कर लें और नाक के बाएं छिद्र से साँस भरें फिर बाएं अंगूठे के बगल वाली दोनों अँगुलियों से बंद कर लें. दाहिने नाक के छिद्र से अंगूठे को हटा दें और साँस को बाहर छोड़ दें.

·        अब अपने दाहिने नाक के छिद्र से ही सांस को अन्दर भरे दाहिने छिद्र को बंद कर बाएं नाक के छिद्र से धीरे-धीरे साँस को छोड़ें.

·        साँस लेने और छोड़ने के दौरान आवाज नहीं होनी चाहिए.

·        आप अनुलोम विलोम प्राणायाम को 5 से 10 मिनट तक कर सकतें हैं.

·         इस प्राणायाम में साँस भरते हुए और छोड़ते हुए अपने मन में ही 4 से 5 तक गिनती गिने. 

पढ़े. कपालभाति प्राणायाम करने के अनेक फायदें Kapalbhati  Pranayama in Hindi

अनुलोम विलोम के लाभ (अनुलोम विलोम के चमत्कार)

अनुलोम विलोम के क्या फायदें हैं- 

1 अनुलोम विलोम के प्रतिदिन करने से शरीर में शुद्ध हवा जाती है और कार्बन डाईऑक्साइड या दूषित हवा बाहर निकलती है. जिससे खून (blood) शुद्ध होती हैं.

2 इस प्राणायाम से हमारे फेफड़े शक्तिशाली होते हैं.

3 मस्तिष्क एकाग्रता व विचार करने की क्षमता अधिक बढ़ जाती है डिप्रेशन को भी दूर करता हैं.

4 जिनका रक्तचाप बढ़ा हुआ हैं उनको जरुर अनुलोम विलोम का अभ्यास रोजाना करना चाहिए.

5 इससे सर्दी, खांसी, गला, नाक सब ठीक हो जाता हैं.

6 डायबीटीस पूरी तरह मिट जाती हैं.

7 टेढ़े लीगामेंट्स सीधे हो जाते हैं.

8 अनुलोम विलोम के फायदें, इस प्राणायाम को करने से वजन कम होता है आपके पाचन किया को भी ठीक कर देता हैं.

9 ब्रेन ट्युमर तक ठीक हो सकता हैं इस प्राणायाम से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी भी ठीक कर सकता हैं.

10 अनुलोम विलोम से हमारी किडनी और साथ में दिल भी स्वथ्य रहता हैं.


सावधानियां

1 अनुलोम विलोम प्राणायाम को खाना खाने के तुरंत बाद नहीं करना चाहिए कम से कम चार घंटे बाद या सुबह के समय कर सकते हैं.

2 प्रेग्नेंट महिलाओं को या उच्चरक्त चाप वाले लोगो लो अधिक समय तक साँस नहीं रोकना चाहिए.

3 यदि आपको कोई गंभीर बीमारी होतो बिना किसी डॉक्टर के परामर्श के बिना ना करें.

दोस्तों आपको ये जानकारी कैसी लगी कृपया कमेंट में जरुर बताये और आपके कोई भी सवाल होतो जरुर पूछें. हमारे website. www.mysaundarya.com जरुर फॉलो करें. thank you.

tag. Anulom vilom ke labh, anulom vilom method, anulom vilom precautions.



Previous
Next Post »

1 टिप्पणियाँ:

Click here for टिप्पणियाँ
Unknown
admin
9 अप्रैल 2022 को 2:48 am बजे

The King Casino
The king casino in Oklahoma 메이저 토토 사이트 offers a wide 메이피로출장마사지 variety of goyangfc games. The communitykhabar casino offers several slots, poker, blackjack, and live games to choose from. We will also

Congrats bro Unknown you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar